Magnetic North Pole खिसक रहा है धरती का चुम्बकीय उत्तरी ध्रुव ये होंगे प्रभावित-

Magnetic North Pole हाल ही में वैज्ञानिकों ने अपनी Reserch के आधार पर यह पता लगाया है कि, धरती का भौगोलिक North Pole तो फिक्स है लेकिन इसकी डायरेक्शन का पता लगाने वाला मैग्नेटिक North Pole लगातार अपनी पोजीशन बदल रहा है, जिसके कारण कई ऐसी problems सामने आ रही रही है, जो हो सकता है कि, और big होती जाये, इसके बारे में हम आगे बात करेंगे।
magnetic-north-pole

Magnetic North Pole खिसक रहा है धरती का चुम्बकीय उत्तरी ध्रुव ये चीजें होंगी influenced-

हमारी धरती की चार(four) दिशाएं है, पूरब-पश्चिम-उत्तर और दक्षिण, इन चारों दिशाओं में उत्तर और दक्षिण ज्यादा महत्वपूर्ण है क्योंकि, इन्हीं दो दिशाओं की वजह से हम धरती पर कहीं भी डायरेक्शन(Direction) का पता लगा सकते है, जब हम किसी magnet को दुसरे चुम्बक के paas ले जाते है, तो वह उसमें चिपक जाता है, किसी भी चुम्बक में दो ध्रुव उत्तर(N) और दक्षिण(S) होते है, जब भी कोई चुम्बक कोई दुसरे चुम्बक से चिपकता है, तो हमेशा विपरीत ध्रुव, यानि पहले चुम्बक का N और दुसरे चुम्बक के S से। हमारी धरती(Earth) भी एक बहुत बड़ा magnet है, जैसा की पहले भी बताया है कि magnet के दो ध्रुव होते है, तो Earth के दोनों ध्रुव उत्तर और दक्षिण की तरफ है, जिसे चुम्बकीय उत्तरी ध्रुवN और चुम्बकीय दक्षिणी ध्रुवS कहते है। जिसके कारण हम कंपास(Compass) की मदद से डायरेक्शन का पता लगाते है, लगभग सभी जगह कंपास सही काम करता है, धरती का भौगोलिक नार्थ pole तो फिक्स है लेकिन, Earth की दिशा का ज्ञान करने वाला मैग्नेटिक नार्थ पोल अपनी स्थिति बदल रहा है, यह हर साल करीब 55 किलोमीटर(34mile) की दर से साइबेरिया(Siberiya) की तरफ खिसक रहा है, जो कि इस time कनाडाई आर्कटिक से आगे बढ़ रहा है, कोलाराडो यूनिवर्सिटी के भूभौतिकीविद और नए वर्ल्ड मैग्नेटिक मॉडल के प्रमुख Researcher अर्नोड चुलियट ने इसके द्वारा पड़ने वाले Efects के बारे में बताया है, जिसके बारे में हम आगे बात करने जा रहे है, इसकी खिसकने की यह स्पीड(Speed) काफी ज्यादा है, इसने 2017 में इंटरनेशनल डेट लाइन(IDL) को पार कर लिया था।

समस्यायें Problems-

1. पानी के जहाज चुम्बकीय(Cruse) उत्तरी ध्रुव पर निर्भर रहते है, समुद्र में जब चारों ओर पानी ही पानी हो तो उस समय ये तय करना मुश्किल होता है कि हम किस दिशा में जा रहे है, इस समय अनुमान(Guess) लगाना मुश्किल होता है, हालांकि कुछ दुसरे तरीके है, जैसे तारों की मदद से direction का पता लगाना, लेकिन खराब मौसम(Weather) में या बादल होने पर तारों को नहीं देखा जा सकता, कंपास की मदद से तुरंत इसका पता लगा लेते है, खासकर शिपिंग(Shiping) के समय अतिरिक्त मदद के लिए इसकी जरूरत पड़ती है, मैग्नेटिक नार्थ पोल के कारण ये influence होंगे। 2. प्लेन, हवाई अड्डे के रनवे(Runway) चुम्बकीय उत्तरी ध्रुव की दिशा पर आधारित होते है, ध्रुवो के घूमने से उनके नाम भी बदल जाएंगे। 3. आपके स्मार्टफोन(Smartphone) में मौजूद कंपास और अन्य ऐसी इलेक्ट्रॉनिक डिवाइसेज, जो कि कंपास का काम करती है, उनके काम में Change देखने को मिल सकता है, हालांकि यह बहुत ही Modest परिवर्तन हो रहे है। 4. सेना, नौवहन और पैराशूट उतारने के लिए इस बात पर Depend करती है कि चुम्बकीय उत्तरी ध्रुव कहां है, इसके साथ ही नासा(Nasa), संघीय विमानन प्रशाशन और अमेरिकी वन सेना भी इसका use करती है। 5. आप जंगल(Forest) में जा रहे है तो कंपास की मदद से ही तुरंत दिशा ज्ञान कर सकते है, मैग्नेटिक ध्रुव के खिसकने के कारण कंपास पहले की तुलना में थोड़ा diffrent दिशा बतायेगा।
magnetic-north-pole

Also read यह भी पढ़ें-

अब ओपेरा एंड्राइड ब्राउज़र में मिलेगा फ्री vpn का फीचर पढ़ें-

Magnetic North Pole

password का यूज़ करते time इस बातो का ध्यान रखें नहीं तो हो सकते है, fraud का शिकार-

6. Global Positioning System(GPS) का प्रयोग करने वाले उपकरण इससे इफेक्टेड नहीं होंगे क्योंकि ये सेटेलाइट का प्रयोग करते है और सेटेलाइट का ये डेटा इन्टरनेट(Internet) के माध्यम से रिसीवर तक पहुँचता है, इसका एक सबसे अच्छा उदाहरण है, google map.

थ्योरी Theory-

वैज्ञानिकों के अनुसार धरती के core में निकिल और लोहे का hot लिक्विड महासागर है जिसमें होने वाली हलचल(Move) से इलेक्ट्रिक फिल्ड जेनरेट होता है और इलेक्ट्रिक फिल्ड के पास ही मैग्नेटिक फिल्ड(Magnetic fild) होता है, जिसको कंपास में लगी चुम्बकीय सुई बताती है, इसके बदलने(Change) का कारण यह है कि दक्षिणी चुम्बकीय ध्रुव बहुत ही धीमे गति से चल रहा है, जबकि जबकि उत्तरी चुम्बकीय ध्रुव काफी तेजी से अपना स्थान बदलते हुए गति कर रहा है, इसलिए यह समस्या(Problem) सामने आ रही है।  Magnetic North Pole

Post a comment

0 Comments